akash tripathi11jan96 Poems

शूरवीर

Akash Tripathi·Tuesday, January 19,2016
सूर्य तेज़ हो या पवन प्रचंड |
अग्नि देश हो या शिखर अनंत||
बिना थके बिना रुके |... more »

वेदना |

किसके विरुद्ध चढ़ाउ प्रत्यंचा
हर पक्ष लांछन की आशंका
शौर्य या विजय
किसकी करू आकांछा... more »

दुविधा

एक अंतर्द्वंद्व छिड़ा हुआ है|
इस ह्रदय और मस्तिष्क में ||
एक क्षड़ीक बोल थम जाता है|
एक दूर पथ दर्शाता है ॥... more »

akash tripathi11jan96 Quotes

Comments about akash tripathi11jan96

There is no comment submitted by members.