Kavi Pravesh chaudhary Quotes

लगाए जाते हैं इल्जाम चँद पंक्तियों मे कर लेते हैं फैसला चँद पंक्तियों में हिलते है जो पत्ते बिन हवा के रुक जाते हैं वो भी चँद पंक्तिये में ।
By kavi pravesh chaudhary rela