Megha Bairwa Poems

Meera

मैं तो तेरी मीरा छलिए
राधा कहाँ से होऊँ।
इक मिला तेरा तन मन
मैं बस बाट जोऊँ।... more »

बच्चे हो तुम

ज़िद्दी हो, अड़ियल हो, नकचढ़े हो,
शैतान के नाना हो तुम,
अब क्या कहूं..बच्चे हो तुम।... more »

Megha Bairwa Quotes

Comments about Megha Bairwa

There is no comment submitted by members.