असहिण्णुता

"असहिण्णुता"
समाज में यह क्या हो गया है,
मामूली-मामूली बातों पर झगड़ना,
प्यार व समरस्ता खत्म हो गई,
और नफरत की दीवार खड़ी हाे गई।

by vijay gupta

Comments (0)

There is no comment submitted by members.