मुझे मिल गये हो जरुर

मुझे मिल गये हो जरुर,
लेकिन डर लगता है,
कहीं फिर छोड़कर न चले जाओगे तुम,
क्योंकि तुम्हारा दिल सदा मचलता है!

by Dr. Navin Kumar Upadhyay

Comments (0)

There is no comment submitted by members.