मदहोश कर

तेरे नजरों की अदा ने मुझे बेहोश कर दिया।
किया दिल का कतरे-कतरे, मदहोश कर लिया।।

by Dr. Navin Kumar Upadhyay

Comments (0)

There is no comment submitted by members.