(1886 - 1967 / Kent / England)

दोस्ती है इक स्वर्ण-श्रंखला (Hindi Translation)

A Golden Chain
Original English Poem by Helen Steiner Rice
Hindi Translation by Rajnish Manga
.................................
दोस्ती है इक स्वर्ण-श्रंखला
मूल अंग्रेजी कविता की रचनाकार हेलेन स्टाईनर राइस
हिंदी रूपांतरण रजनीश मंगा द्वारा
.................................
दोस्ती है इक स्वर्ण-श्रंखला,
प्यारा हर इक दोस्त एक मजबूत कड़ी हैं,
एक अद्भुत और कीमती हीरे जैसी
बढ़ती रहती जिसकी कीमत हर एक घड़ी है...

गुंथी हुयी हैं आपस में यह मजबूती से
गहन प्रेम से- जो गहरा है और सच्चा भी है,
दिलकश यादों ने समृद्ध किया है जिसको
ऐसी दिलचस्प कथाओं का गुलदस्ता भी है...

समय नष्ट क्या करेगा इसकी शोभा को
क्योंकि जब तक जीवित रहती स्मृतियाँ अपनी,
साल बीतते जायेंगे पर आनंद न मिट पायेगा
यारी से जो मिलती हमको वो खुशियाँ अपनी...

क्योंकि दोस्ती एक अनमोल तोहफ़ा है
जिसे खरीदा और न बेचा जा सकता है,
मगर मित्र जो हमें समझने वाला हो
क्या उसको सोने से भी तोला जा सकता है...

और दोस्ती की यह स्वर्ण-श्रंखला
इतनी है मजबूत और धन्य यह मानी जाती,
अपनेपन का सूत्र हृदय की मजबूती है
और साल दर साल है ये मजबूती बढ़ती जाती.

User Rating: 5,0 / 5 ( 5 votes ) 1

Comments (1)

It’s good, real depressing though. Now I feel sad. I’m sad.